Site icon nsvnews

Indian Air force day:–भारत भर में मनाया जा रहा है भारतीय वायुसेना दिवस, जाने कब से और क्यों मनाया जाता है।

Indian Air force day 2023:–भारत भर में मनाया जा रहा है भारतीय वायुसेना दिवस, जाने कब से और क्यों मनाया जाता है।

Indian Air Force Day 2023 भारतीय वायु सेना दिवस हर साल 8 अक्टूबर को मनाया जाता है। भारतीय वायु सेना 8 अक्टूबर को ही पहली बार गठित हुई थी और अपना पहला मिशन भी इसी तारीख को पूरा किया था इस वजह से हर साल 8 अक्टूबर को वायु सेना दिवस के रुप में मनाया जाता है।

Indian Air force day

Indian Air Force New Flag:–

भारतीय वायु सेना को 91वीं वर्षगांठ पर नया ध्‍वज म‍िला है। प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी केंद्रीय मंत्री अमित शाह रक्षा मंत्री और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने वायु सेना द‍िवस पर वायु सेना को बधाई दी। वहीं आज प्रयागराज में वायु सेना द‍िवस पर एयर शो का आयोजन क‍िया गया है। बता दें क‍ि यह बदलाव 72 वर्ष बाद किया गया है।

वायु सेना की 91वीं वर्षगांठ पर रविवार को एक और नया अध्याय जुड़ गया है। आज भारतीय वायुसेना को नया झंडा म‍िला है। यह बदलाव 72 वर्ष बाद किया गया है। वायु सेना अध्यक्ष चीफ एयर मार्शल वीआर चौधरी ने परेड के दौरान झंडा बदलने के साथ वायु योद्धाओं को शपथ भी द‍िलाई।

HIGHLIGHTS

8 October indian air force day

पीएम मोदी, अम‍ित शाह और सीएम योगी ने दी बधाई

केंद्रीय मंत्री अमित शाह, रक्षा मंत्री और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रविवार को 91वें वायु सेना स्थापना दिवस पर सभी भारतीय वायु सेना कर्मियों को शुभकामनाएं दीं। भारतीय वायु सेना ने रविवार सुबह प्रयागराज के बमरौली वायु सेना स्टेशन पर औपचारिक परेड के साथ 91वीं वर्षगांठ समारोह की शुरुआत की।

राजनाथ सिंह ने पोस्ट करते हुए ल‍िखा क‍ि भारत माता के वीर सपूतों ने जो शौर्य, साहस और पराक्रम रचा है। जय हिंद!

वायु सेना दिवस भारतीय वायु सेना (IAF) को देश के सशस्त्र बलों में आधिकारिक रूप से शामिल करने का प्रतीक है, जिसकी स्थापना 8 अक्टूबर 1932 को हुई थी।

भारतीय वायु सेना दिवस 2023 महत्व

भारतीय वायु सेना की आधिकारिक तौर पर स्थापना 8 अक्टूबर 1932 को हुई थी और यही वजह है कि इस दिन को हर साल भारतीय वायु सेना की वर्षगांठ के रूप में मनाया जाता है। भारत में वायु सेना अड्डों पर छुट्टी मनाने के लिए परेड और एयर शो आयोजित किए जाते हैं। ये दिन भारत में जमीन पर लड़ने वाली सेना की सहायता के लिए भारतीय हवाई अड्डों की स्थापना के लिए मनाया जाता है।

भारतीय वायु सेना दिवस का इतिहास

भारतीय वायु सेना का गठन 8 अक्टूबर 1932 में यूनाइटेड किंगडम के रॉयल एयर फोर्स के साथ एक सहायक टुकड़ी के रूप में हुआ था, 1933 में भारतीय वायुसेना ने अपना पहला स्कार्डन बनाया और पहला मिशन इसी तारीख को पूरा किया। धीरे-धीरे वायु सेना ने अपनी ताकत को दिखाना शुरू किया और कुछ ही समय में दुनिया के सबसे ताकतवर वायु सेना में अपना नाम शुमार किया। 8 अक्टूबर को हुई शुरुआत के बाद से इसे हर साल मनाया जाने लगा।

कैसे मनाया जाता है यह दिन?

इस अवसर पर वायुसेना में योगदान देने वाले हर व्यक्ति की सराहना की जाती है। सफल मिशनों को पूरा करने और मध्य वायु कमान को उच्च स्तर की परिचालन तैयारियों को प्रदर्शित करने में सक्षम बनाने के लिए उनकी प्रशंसा की जाती है। पिछले साल की उपलब्धियों को ध्यान में रखते हुए वायु योद्धाओं को विभिन्न पुरस्कार और सम्मान पदक प्रदान किए जाते हैं।

भारतीय वायुसेना दिवस

वायु सेना दिवस क्यों मनाया जाता है?

भारतीय वायु सेना की आधिकारिक तौर पर स्थापना 8 अक्टूबर 1932 को हुई थी और यही वजह है कि इस दिन को हर साल भारतीय वायु सेना की वर्षगांठ के रूप में मनाया जाता है। भारत में वायु सेना अड्डों पर छुट्टी मनाने के लिए परेड और एयर शो आयोजित किए जाते हैं।

वायु सेना का जनक कौन है?

सुब्रतो मुखर्जी भारतीय वायुसेना के पहले वायु सेनाध्यक्ष थे। सुब्रतो मुखर्जी को भारतीय वायुसेना का पिता भी कहा जाता है।

https://nsvnews.com/israel-attack-%e0

 

https://sarkarirozi.com/index.php/2023/06/02/bihar-bpsc-school-teacher-primary-tgt-pgt-recruitment-2023-apply-online-for-170461-post/?amp=1

 

Exit mobile version