Gaganyaan Mission Test Flight update :–इसरो का लाइव अपडेट, गगनयान मिशन हुआ सफल 

गगनयान मिशन

Gaganyaan Mission Test Flight update :– इसरो का लाइव अपडेट, गगनयान मिशन हुआ सफल 

Gaganyaan Mission Test Flight updates:

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) आज श्रीहरिकोटा परीक्षण रेंज से गगनयान मिशन के व्हीकल टेस्ट फ्लाइट (टीवी-डी1) का पहला परीक्षण करने जा रहा है। गगनयान मिशन के लिए टेस्ट उड़ान टीवी-डी1 को सुबह आठ बजे लॉन्च किया जाना था, लेकिन अतिरिक्त सतर्कता बरतते हुए, इसका लॉन्च टाइम 30 मिनट आगे बढ़ा दिया गया। हालांकि, खराब मौसम की वजह से इसरो ने मिशन को 10 बजे लॉन्च किया। अंतरिक्ष में भेजने के बाद इसे सफलतापूर्वक बंगाल की खाड़ी में उतार लिया गया।

गगनयान मिशन
गगनयान मिशन

आज सुबह होते ही इसरो के श्रीहरिकोटा केंद्र में हलचल बढ़ गई थी। सुबह 8 बजे गगनयान मिशन के लिए क्रू मॉड्यूल का टेस्ट होना था लेकिन दो बार इसमें देरी हुई। 9 बजे के करीब काउंटडाउन शुरू हुआ तो आखिरी 5 सेकेंड पर यह अचानक रुक गया। इसरो चीफ ने बताया कि कुछ खामी पता चली है जिससे होल्ड हो गया। अच्छी बात यह है कि पौन घंटे के भीतर सारी तकनीकी खामियों को दूर कर लिया गया। आज इस टेस्ट के लिए इस्तेमाल होने वाला रॉकेट भले ही छोटा था लेकिन उसका लक्ष्य बड़ा था।

जी हां, मानव मिशन में क्रू को सुरक्षित लैंड कराने में इस टेस्ट की अहम भूमिका रहने वाली है। 10 बजे लॉन्च फिर शेड्यूल हुआ और वैज्ञानिकों के चेहरे खिल गए। सुबह खराब मौसम था लेकिन 10 बजे तक धूप खिल चुकी थी। 3 मिनट की उल्टी गिनती देख इसरो मिशन में उत्सुकता बढ़ गई। इसरो ने आज दिखा दिया कि डर के आगे जीत है, डर के आगे मिशन सफल है। इसके साथ ही इंसान को स्पेस में भेजने की दिशा में भारत का पहला कदम कामयाब रहा है।

 

तमाम बाधाओं और चुनौतियों से पार पाते हुए इसरो ने गगनयान मिशन की पहली टेस्ट फ्लाइट लॉन्च कर इतिहास रच दिया है। इसरो ने शनिवार सुबह 10 बजे श्रीहरिकोटा स्थित सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र से गगनयान के क्रू मॉड्यूल को सफलतापूर्वक लॉन्च किया।इसे टेस्ट व्हीकल अबॉर्ट मिशन-1 (Test Vehicle Abort Mission -1) और टेस्ट व्हीकल डेवलपमेंट फ्लाइंट (TV-D1) भी कहा जा रहा है।

 

इसरो चीफ एस सोमनाथ ने कहा कि मुझे यह बताते हुए खुशी हो रही है कि टीवी-डीवी 1 (क्रू मॉड्यूल) मिशन का सफलतापूर्वक प्रक्षेपण किया गया है।उन्होंने इस सफलता के इसरो की पूरी टीम को बधाई दी।

 

टेस्ट व्हीकल एस्ट्रोनॉट के लिए बनाए गए क्रू मॉड्यूल को अपने साथ ऊपर ले गया। रॉकेट क्रू मॉड्यूल को लेकर साढ़े सोलह किलोमीटर ऊपर जाएगा और फिर बंगाल की खाड़ी में लैंड करेगा। इससे पहले शनिवार टेस्ट मिशन को सुबह लॉन्च 8 बजे लॉन्च करना था लेकिन कुछ खराबी होने के कारण इसे 8.45 बजे के लिए फिर से शेड्यूल किया गया। लेकिन लॉन्च से पहले इंजन ठीक तरह से काम नहीं कर पाए जिसकी वजह से लॉन्चिंग स्थगित पड़ी थी। 

इसरो प्रमुख सोमनाथ बोले, समुद्र से प्राप्त किया गया क्रू मॉड्यूल

गगनयान मिशन के पहले सफल परीक्षण उड़ान पर इसरो प्रमुख एस सोमनाथ की प्रतिक्रिया सामने आई है। पत्रकारों से बातचीत करते हुए उन्होंने कहा, क्रू मॉड्यूल को समुद्र से पूरी तरह से प्राप्त कर लिया गया है। जिसमें कोई विसंगति नहीं पाई गई है। सभी डेटा अच्छे दिखाई दे रहे हैं। गगनयान मिशन के तहत 20 परीक्षणों की एक श्रृंखला है। जिसे समय-समय पर किया जाएगा। साथ ही उन्होंने कहा कि आज का परीक्षण क्रू एस्केप मॉड्यूल के लिए था। भारतीय नौसेना ने गगनयान मिशन के क्रू मॉड्यूल को दोबारा प्राप्त किया।

 

गगनयान मिशन
गगनयान मिशन

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) ने श्रीहरिकोटा परीक्षण रेंज से गगनयान मिशन के व्हीकल टेस्ट फ्लाइट (टीवी-डी1) का पहला परीक्षण किया गया। गगनयान मिशन के लिए टेस्ट उड़ान टीवी-डी1 को लॉन्च किया गया। अंतरिक्ष में भेजने के बाद इसे सफलतापूर्वक बंगाल की खाड़ी में उतार लिया गया। भारतीय नौसेना ने गगनयान मिशन के क्रू एस्केप मॉड्यूल को फिर से प्राप्त कर लिया है। भारतीय नौसेना ने कहा, हमारी इकाइयों ने क्रू मॉड्यूल को दोबारा प्राप्त कर लिया है। व्यापक योजना, नौसेना के गोताखोरों के प्रशिक्षण, एसओपी के निर्माण और भारतीय नौसेना और इसरो की संयुक्त टीमों ने संचार द्वारा मार्ग को प्रशस्त किया।

पीएम मोदी ने इसरो को दी बधाई

पीएम मोदी ने ट्वीट कर कहा कि यह प्रक्षेपण हमें भारत के पहले मानव अंतरिक्ष उड़ान कार्यक्रम, गगनयान को साकार करने के एक कदम और करीब ले जाता है। इसरो के हमारे वैज्ञानिकों को मेरी शुभकामनाएं।

https://sarkarirozi.com/index.php/2023/06/02/bihar-bpsc-school-teacher-primary-tgt-pgt-recruitment-2023-apply-online-for-170461-post/?amp=1

 

https://nsvnews.com/police-commemoration-day-

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *