G20 Summit 2023 in India :–भारत पहुंचे अंमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन, और कई देशों के राष्ट्रपति

Mkorocco Earthquake

G20 Summit 2023 in India :–भारत पहुंचे अंमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन, और कई देशों के राष्ट्रपति

G20 Summit 2023 in India:– अमेरिका के राष्ट्रपति के रूप में जो बाइडेन की भारत की पहली यात्रा है। बाइडेन 9 और 10 सितंबर को होने वाले जी-20 शिखर सम्मेलन में शामिल होंगे।

G20
G20 Summit 2023 in India

अंमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन आज शाम G20 शिखर सम्मेलन के लिए भारत आ चुके हैं। तय प्रोग्राम के मुताबिक बाइडेन का प्लेन शाम 6.55 बजे दिल्ली में लैंड करना था ।हालांकि दिल्ली से पहले बाइडेन की फ्लाइट जर्मनी में थोड़ा सा ब्रेक लिया लेकिन शाम को वो देश की राजधानी दिल्ली आ गए। दिल्ली एयरपोर्ट पर केंद्रीय मंत्री वीके सिंह उन्हें रिसीव किया। जी 20 के मद्देनजर इस वक्त दिल्ली में सुरक्षा की कड़ी व्यवस्था की गई है।

 

एयरपोर्ट से बाइडेन अपनी स्पेशल गाड़ी ‘बीस्ट‘ से अपना आगे का सफर तय किया है उनके साथ 50 गाड़ियों का काफिला होगा, जिसमें सीक्रेट सर्विस कमांडो भी है। आज 8 सितम्बर 2023 को जिन रास्तों से बाइडेन का काफिला गुजरा वहां के ट्रैफिक को डाइवर्ट किया गया है और जितनी देर काफिला रोड पर रहेगा, उतनी देर मेट्रो सेवाएं रोक दी जाएंगी, सड़कों पर काफिले की गाड़ियों के अलावा एक भी आम वाहन या आम इंसान नहीं होंगे। इस काफिले के साथ कमांडो और दिल्ली पुलिस भी होगी।

प्रेसीडेंट को रिसीव करने आई छोटी गर्ल?

एक मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, वह बच्ची अमेरिका राजदूत की बेटी है वहीं पर अमेरिका अंबेसडर मौजूद हैं।भारत में अमेरिका के राजदूत एरिक गार्सेटी हैं।उनकी ही बेटी वहां स्वागत करने के लिए मौजूद दिख रही है।बताया जाता है कि एरिक गार्सेटी जो बाइडेन के बेहद करीबी हैं।

इसलिए उन्हें भारत में राजदूत बनाकर भेजा गया है। व्हाइट हाउस के मुताबिक, भारत पहुंचते ही जो बाइडेन पीएम नरेंद्र मोदी के साथ द्विपक्षीय वार्ता करेंगे। G-20 Summit के दौरान अमेरिकी राष्ट्रपति का ध्यान विकासशील देशों के लिए आर्थिक अवसर प्रदान करने पर होगा।इसके साथ ही जलवायु से लेकर आईटी तक अमरिकियों की प्राथमिकताओं पर भी उनका ध्यान रहेगा।

what is G20.

जी20 यानी ग्रुप ऑफ ट्वेंटी, ये 20 देशों का एक समूह है।ये 20 देश साल में एक बार एक सम्मेलन के लिए इकट्ठा होते हैं और दुनियाभर के आर्थिक मुद्दों के साथ-साथ जलवायु परिवर्तन, सतत विकास, स्वास्थ्य, कृषि, ऊर्जा, भ्रष्टाचार-विरोध और पर्यावरण जैसे मुद्दों पर चर्चा करते हैं. जो देश इस सम्मेलन की अध्यक्षता करता है, उसका प्रमुख काम किसी विषय विशेष के प्रति सभी देशों के बीच आम सहमति बनाना होता है।

G20
G20के सदस्य

G20 के सदस्य कौन-कौन से देश हैं?

जी20 में 19 देश- भारत, अर्जेंटीना, ऑस्ट्रेलिया, ब्राजील, कनाडा, चीन, फ्रांस, जर्मनी, इंडोनेशिया, इटली, जापान, कोरिया गणराज्य, मैक्सिको, रूस, सऊदी अरब, दक्षिण अफ्रीका, तुर्किये, यूनाइटेड किंगडम और संयुक्त राज्य अमेरिका और यूरोपीय संघ शामिल हैं। हर साल अध्यक्ष देश कुछ देशों और संगठनों को मेहमान के तौर पर भी आमंत्रित करता है।

इस बार भारत ने बांग्लादेश, ईजिप्ट, मॉरीशिस, नीदरलैंड, नाइजीरिया, ओमान, सिंगापुर, स्पेन और संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) को मेहमान के तौर पर बुलाया है।वहीं नियमित अंतर्राष्ट्रीय संगठनों (यूएन, आईएमएफ, डब्ल्यूबी, डब्ल्यूएचओ, डब्ल्यूटीओ, आईएलओ, एफएसबी और ओईसीडी) और क्षेत्रीय संगठनों (एयू, एयूडीए-एनईपीएडी और आसियान) की पीठों के अलावा जी20 के अध्यक्ष के रूप में भारत की ओर से आईएसए, सीडीआरआई और एडीबी को अतिथि अंतर्राष्ट्रीय संगठनों के रूप में आमंत्रित किया गया है।

https://nsvnews.com/free-fire-

G20 Summit India:

1997 में एशियाई वित्तीय संकट के बाद जी20 की शुरुआत की गई थी। इस बैठक में पहले आर्थिक मुद्दों पर चर्चा होती थी, लेकिन बाद में और भी कई मुद्दों को शामिल किया गया।

भारत में जी20 शिखर सम्मेलन

भारत 1 दिसंबर 2022 से 30 नवंबर 2023 तक जी20 की अध्यक्षता करेगा। 16 नवंबर 2022 को जी20 बाली शिखर सम्मेलन में पीएम मोदी को जी20 की अध्यक्षता सौंपी गई थी। इससे पहले 8 नवंबर 2022 को पीएम ने जी20 का लोगो लॉन्च किया था और भारत की जी20 प्रेसीडेंसी थीम- ‘वसुधैव कुटुम्बकम’ यानी- ‘वन अर्थ, वन फैमिली, वन फ्यूचर’ का अनावरण किया था।जी20 के लोगो को भारत के राष्ट्रीय ध्वज के रंगों में डिजाइन किया गया है, जो हमारे पृथ्वी-समर्थक दृष्टिकोण और चुनौतियों के बीच विकास का प्रतीक है।

https://sarkarirozi.com/index.php/2023/06/02/bihar-bpsc-school-teacher-primary-tgt-pgt-recruitment-2023-apply-online-for-170461-post/?amp=1

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *