Site icon nsvnews

Breaking news:राजस्थान की राजधानी जयपुर में 1घंटे में 3 भूकम्प

राजस्थान की राजधानी जयपुर में शुक्रवार को 4.4 तीव्रता का भूकंप आया। शहर के कुछ हिस्सों में भूकंप के झटके महसूस किए गए। घबराए लोग अपने घरों से बाहर निकल आए। नेशनल सेंटर ऑफ सीस्मोलॉजी की वेबसाइट के मुताबिक, भूकंप सुबह 4.10 बजे आया। वहीं, मणिपुर के उखरुल में सुबह 05:01 बजे 3.5 तीव्रता का भूकंप आया।

earthquake

राजस्थान से लेकर मणिपुर  तक शुक्रवार तड़के भूकंप के तेज झटके महसूस किए गए। एक ओर जहां राजस्थान में भूकंप के बार-बार झटके महसूस किए गए, वहीं मणिपुर में भी भूकंप से धरती हिली। राजस्थान की राजधानी जयपुर में एक घंटे में तीन बार धरती हिली और भूकंप के झटकों से सहमे लोग घरों से बाहर निकलते दिखे। जयपुर समेत आसपास के इलाकों में भूकंप के ताबड़तोड़ झटकों से पूरा शहर सहम गया और लोग घरों से बाहर निकलकर सड़कों पर भागते दिखे। जयपुर में रिक्टर स्केल पर भूकंप की तीव्रता क्रमश: 3.1, 3.4 और 4.4 मापी गई है।फिलहाल किसी नुकसान की कोई खबर नहीं है।

जयपुर और राजस्थान के अन्य जिलों में इससे पहले  24 जनवरी और 21 मार्च को भी भूकंप के तेज झटके महसूस किए गए थे। उस दौरान भी कंपन के डर से लोग घरों से बाहर निकल आए थे। सीकर जिले में भी हाल ही भूंकप के झटकों ने डरा दिया था।

भूकम्प क्या है (what is earthquake):–

भूकंप का अर्थ पृथ्वी की कंपन से होता है। यह एक प्राकृतिक घटना है, जिसमें पृथ्वी के अंदर से ऊर्जा के निकलने के कारण तरंगें उत्पन्न होती हैं जो सभी दिशाओं में फैलकर पृथ्वी को कंपित करती हैं।

भूकम्प को मापने के लिय सिस्मोग्राफका का इस्तेमाल किया जाता है।

सिस्मोग्राफ (Seismograph) (भूकंपमापी):–

वहां यंत्र जिससे भूकंप की तीव्रता मापी जाती है भूकंपमापी कहलाता है

भूकंप के प्रभाव (Effects of earthquake):-भूकंप से जान माल की हानि होती है और सबसे अधिक हानि इमारतों को होती है। इनसे मानव जाति भी प्रभावित होती है। इनके अलावा ये बाढ़ और सुनामी आने का भी कारण भी बनते हैं।

भीम आर्मी स्थापना दिवस 21 July (Bhim Army Protest ): 21 जुलाई को चंद्रशेखर आजाद जंतर मंतर पर करेगे प्रदर्शन
Exit mobile version